इंसानियत को सलाम! सिर्फ दो रुपये में लोगों का इलाज कर रहा है ये डॉक्‍टर

प्रतीकात्‍मकफोटो

डॉक्‍टरकोभगवानकादूसरारूपकहागयाहै,लेकिनफिरकुछडॉक्‍टरऐसेभीहोतेहैंजोज्‍यादापैसाकमानेकेफेरमेंमरीजोंकोलूटनेसेभीबाजनहींआते.कईबारतोमरीजडॉक्‍टरोंकीमहंगीफीसनहींचुकापातेहैंऔरइलाजनमिलनेकीवजहसेदमतकतोड़देतेहैं.ऐसीकईघटनाएंसामनेआचुकीहैंजहांफीसकेनामपरअस्‍पतालोंकेकड़ेनियमोंऔर डॉक्‍टरोंकीलापरवाहीकीवजहसेलोगोंकोदिक्‍कतोंकासामनाकरनापड़ताहै.यहीवजहहैकिआजगरीबसेगरीबआदमीभीइलाजकेलिएपैसोंकीथोड़ीबहुतबचतजरूरकरताहैताकिवक्‍तपड़नेपरडॉक्‍टरकीफीसचुकाईजासके.इनसबकेबीचएकऐसाभीडॉक्‍टरहैजोनि:स्‍वार्थभावसेलोगोंकीसेवाकररहाहै.खासबातयहहैकिवहमात्रदोरुपयेमेंलोगोंकाइलाजकररहेहैं.

जीहां,67सालकेडॉक्‍टरथीरुवेंगडमवीराराघवन1973सेदोरुपयेकीफीसलेकरचेन्‍नईकेलेागोंकाइलाजकररहेहैं.स्टेनलेमेडीकलकॉलेजसेएमबीबीएसकरनेवालेडॉक्‍टरथीरुवेंगडमनेबादमेंफीसदोरुपयेसेबढ़ाकरपांचरुपयेकरदीथी.इलाकेमेंवीराराघवनइतनेमशहूरहोगएकिआसपासकेडॉक्‍टरोंनेहीउनकाविरोधशुरूकरदिया.डॉक्‍टरउनपरफीसबढ़ानेकादबावडालरहेथे.डॉक्‍टरोंकाकहनाथाकिउन्‍हेंबतौरफीसकमसेकम100रुपयेलेनेचाहिए.

इनसबसेसेबचनेकाउन्‍होंनेएकनायाबतरीकाढूंढनिकाला.अबउन्‍होंनेफीसकामामलापूरीतरहअपनेमरीजोंपरछोड़दियाहै.यानीकिफीसक्‍याहोऔरकितनीहोइसकाफैसलामरीजहीकरतेहैं.अबमरीजउन्‍हेंफीसकेरूपमेंपैसेयाखानेपीनेकासामनादेसकतेहैं.मरीजकुछदिएबिनाभीअपनाइलाजकरासकतेहैं.अपनीइससेवाकेलिएउन्हेंलोगदोरुपयेवालेडॉक्टरकेरूपमेंभीपुकारतेहैं.

डॉक्‍टरथीरुवेंगडमवीराराघवनचेन्‍नईकेइरुकांचेरीमेंसुबह8बजेसेरात10केबजेतकमरीजोंकोदेखतेहैं.इसकेबादवहआधीराततकवेश्यारपादीमेंभीमरीजोंकोदेखनेकेलिएजातेहैं.उनकासपनाहैकिवहवेश्‍यारपादीकीछुग्‍गियोंमेंरहनेवालेलोगोंकेलिएअस्‍पतालखोलकरजीवनभरवहांकेलोगोंकीसेवाकरसकें.कीरिपोर्टकेमुताबिकडॉक्‍टरथीरुवेंगडमकाकहनाहैकिउन्होंनेडॉक्टरबननेकेलिएजोपढ़ाईकीउसमेंउन्हेंपैसेनहींखर्चपड़नेपड़े.पढ़ाईउन्होंनेसमाजकीसेवाकेलिएकीहैऔरइसवजहसेवहलोगोंसेपैसेनहींलेतेहैं.

भईवाह,दुनियाकोडॉक्‍टरथीरुवेंगडमवीराराघवनजैसेऔरलोगोंकीजरूरतहैक्‍योंकिइनकीवजहसेहीमानवताकायमहै.डॉक्‍टरथीरुवेंगडमकेजज्‍बेकोहमारासलाम.