श्रीनगर में 14 साल बाद बीएसएफ की तैनाती, 10,000 अतिरिक्त अर्द्धसैनिक बल घाटी पहुंचे

नईदिल्ली:पिछलेदिनोंजम्मू-कश्मीरकेपुलवामामेंहुएआतंकवादीहमलेमेंसीआरपीएफके40जवानोंकीशहादतकेबादकेंद्रसरकारनेश्रीनगरमें14सालबादसीमासुरक्षाबल(बीएसएफ)कोतैनातकियाहै.अधिकारियोंनेबतायाकिकेंद्रसरकारनेबीएसएफकी100अतिरिक्तकंपनियांजम्मू-कश्मीरबुलवालीहै.केंद्रीयगृहमंत्रालयकेसूत्रोंनेदिल्लीमेंबतायाकिबीएसएफकी35सहितइसअर्धसैनिकबलकी100कंपनियांलोकसभाचुनावसेपहलेकेनियमितअभ्यासकेतहततैनातकीजारहीहैं.अधिकारियोंनेयहांकहाकिबीएसएफ14सालकेबादघाटीमेंवापसबुलाईगईहै.

उन्होंनेकहाकिबीएसएफको2016मेंहुईअशांतिकेसमयअस्थायीतौरपरएकहफ्तेकेलिएकश्मीरमेंतैनातकियागयाथा,लेकिनउसेतुरंतवहांसेहटालियागयाथा.अधिकारियोंनेबतायाकिपुलवामाहमलेकेबादभारतऔरपाकिस्तानकेबीचतनावकीस्थितिकेबीचयहतैनातीकीगईहै.अधिकारियोंनेबतायाकिबीएसएफश्रीनगरमेंचारऔरबडगामजिलेमेंएकजगहतैनातकीगईहै.

सीआरपीएफकीजगहबीएसएफकीतैनातीहुईहै.उन्होंनेबतायाकिइसकदमकामकसदघाटीमेंकानून-व्यवस्थादुरुस्तकरनाहै.उन्होंनेकहा,‘बीएसएफआईटीबीपीकीकंपनियोंकेसाथमिलकरकश्मीरक्षेत्रमेंतैनातसीआरपीएफकीकंपनियोंसेस्थिरगार्डड्यूटीसंभालेगी.हालांकिगृहमंत्रालयकाकहनाहैकिजम्मूकश्मीरमें10,000अतिरिक्तअर्द्धसैनिककर्मियोंकीतैनातीलोकसभाचुनावसेपहलेएकनियमितचुनावपूर्वअभ्यासहै.

दूसरीओरसुप्रीमकोर्टमेंसंविधानकेअनुच्छेद35एपरहोनेवालीसुनवाईसेपहलेशनिवारकोसुरक्षाबलोंने150सेअधिकलोगोंकोहिरासतमेंलिया.इनमेंमुख्यरूपसेजमातएइस्लामीजम्मूएंडकश्मीरकेप्रमुखअब्दुलहामिदफयाजसहितइसकेअन्यलोगशामिलहैं.शीर्षन्यायालयमेंयहसुनवाईसोमवारकोहोनेकीसंभावनाहै.

हालांकिपुलिसनेइसकार्रवाईकोनियमितबतातेहुएकहाहैकिअतीतमेंनेताओंऔरपथरावकरनेवालेलोगोंकोउठायागयाहै.वहींइसघटनाक्रमसेनजदीकीरूपसेजुड़ेअधिकारियोंनेकहाकियहजमातएइस्लामीपरप्रथमबड़ीकार्रवाईहै.कुछसरकारीविभागोंद्वाराजारीआदेशोंसेभीलोगोंमेंडरसमागयाहै.श्रीनगरकेगवर्नमेंटमेडिकलकॉलेजनेअपनेसंकायसदस्योंकीसर्दियोंकीछुट्टियांरद्दकरदीहैंऔरउन्हेंसोमवारकोअपनेकामपरआनेकोकहाहै.